World Toilet Day: Change thinking, go to the toilet; Know what is in the world

by: Sanjay Pokhriyal The Father of the Nation Mahatma Gandhi had two important things about cleanliness and cleanliness. First of all, that there is more significant cleanliness than freedom and every man should be his own cleanman. But it seems that we have forgotten these things about them. Only then the world has to commemorate the toilets day so that people do not get poisoned in the open. Use toilets. Fast toilets are being created in many countries of the world including India. Ironically, those who have this facility in rural areas also avoided using it. World…

Read More

Naturopathy Day: डायबीटीज से हैं पीड़ित या हाई बीपी की है परेशानी, नेचुरोपैथी से पाएं इलाज

नेचुरोपैथी की थेरपी शुरू करने से पहले इसके एक्सपर्ट से राय जरूर लेनी चाहिए। थेरपी के लिए सामान की कीमतों में फर्क हो सकता है। वहीं इलाज के तरीके और असर में भी कुछ अंतर संभव है। भारत सरकार के आयुष मंत्रालय ने 18 नवंबर 2018 को पहले नेचुरोपैथी डे के रूप में मनाने का फैसला किया है। दरअसल, राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का नेचुरोपैथी से इलाज में बहुत यकीन था। इसलिए 18 नवंबर 1945 को महात्मा गांधी ने ‘ऑल इंडिया नेचर क्योर फाउंडेशन ट्रस्ट’ की स्थापना की थी। कुदरत के…

Read More

प्राकृतिक चिकित्सक थे गाधी जी

राष्ट्रपिता महात्मा गाधी (Mahatma Gandhi)  प्राकृतिक चिकित्सा (Nature Cure) व योग (Yoga) पर गहरा विश्वास करते थे। यही नहीं, वह स्वय और परिवार के सदस्यों पर भी प्राकृतिक चिकित्सा के नुस्खों को अपनाया करते थे। परिवार के अलावा वह प्रख्यात उद्योगपति घनश्याम दास बिड़ला (Ghansyam Das Birla) के भी प्राकृतिक चिकित्सक थे। योग व प्राकृतिक चिकित्सक डॉ, ओमप्रकाश आनद के अनुसार घनश्याम दास बिड़ला महात्मा गाधी को एक सफल व महान प्राकृतिक चिकित्सक मानते थे। बिड़लाजी के अनुसार उन्हें बार-बार जुकाम (Cold) हो जाया करता था और उनका हाजमा भी…

Read More