अलसी का काढ़ा दें 101℅ बिना-चिरफाड़ यानी ऑप्रेशन के बिल्कुल स्वस्थ हो जाएँगे

“अलसी एक अमृतमयी चमत्कारी औषधी :”

 विविध नाम :-
अलसी (Alsi), फ्लेक्स सीड्स (Flax seeds), लिन सिड्स वगैरा ईसके नाम हैं।

अलसी से सभी परिचित होंगे लेकिन इसके चमत्कारी फायदे से बहुत ही कम लोग जानते हैं।आज डॉ०.आलोक जैन अलसी के फायदे के बारे में जो बता रहें हैं उनके बारे में जानकर और अपनाकर आप जरुर रोग मुक्त हो जायेगें।

# अलसी शरीर को स्वस्थ रखती है व आयु बढ़ाती है। अलसी में 23℅ ओमेगा-3 फेटी एसिड, 20℅ प्रोटीन, 27℅ फाइबर, लिगनेन, विटामिन बी ग्रुप, सेलेनियम, पोटेशियम, मेगनीशियम, जिंक आदि होते हैं।

 # अलसी में रेशे भरपूर 27% पर शर्करा 1.8% यानी नगण्य होती है। इसलिए यह शून्य-शर्करा आहार कहलाती है और मधुमेह रोगियों के लिए आदर्श आहार है।

ब्लड शुगर :-

अगर किसी को ब्लड शुगर, (डायाबिटिज) की तकलीफ है तो आपके लिये अलसी किसी वरदान से कम नहीं है।डॉ०.आलोक जैन बता रहे हैं कि सुबह खाली पेट २ चमच अलसी लेकर, २ ग्लास पानी में उबालें जब आधा पानी बचे तब छानकर पियें।

 थाईराईड :-

सुबह खाली पेट २ चमच अलसी लेकर २ ग्लास पानी में उबालें, जब आधा पानी बचे तब छानकर पियें।

👉🏻 यह दोनों प्रकार के थाईराईड में बढ़िया काम करती है।

 हार्ट ब्लोकेज :-

३ महिना अलसी का काढ़ा उपर बताई गई विधि के अनुसार करने से आपको ऐन्जियोप्लास्टि कराने की जरुरत नहीं पड़ती।

 लकवा, पैरालिसीस :-

पैरालिसीस होने पर ऊपर बताई गई विधि से काढ़ा पीने से लकवा ठीक हो जाता है।

 बालों का गिरना :-

अलसी को आधा चम्मच रोज सुबह खाली पेट सेवन करने से बाल गिरने बंद हो जाते हैं।

 जोडों का दर्द :-

अलसी का काढ़ा पीने से जोड़ों का दर्द दूर हो जाता है। साईटिका, नस का दबना वगैरा में लाभकारी।

 अतिरिक्त वजन :-

अलसी का काढ़ा पीने से शरीर का अतिरिक्त वजन दूर होता है।  नित़्य इसका सेवन करें, निरोगी रहें।

 केन्सर :-

किसी भी प्रकार के केन्सर में अलसी का काढ़ा सुबह-शाम दो बार पिऐं जिससे असाधारण लाभ निश्चीत है।

 पेट की समस्या :-

जिन लोगों को बार-बार पेट के जुड़े रोग होते हैं उनके लिये अलसी रामबाण ईलाज है। अलसी कब्ज, पेट का दर्द आदि में फायदाकारक है।

 बालों का सफेद होना :-

१ व्यक्ति ने मुझे बताया कि उसने मेरे बताने के अनुसार ३ महिने अलसी का काढा पीया तो उसके सफेद बाल भी धीरे-धीरे काले होने लगे।

 सुस्ति, आलस, कमजोरी :-

अलसी का काढा पीने से सुस्ती, थकान, कमजोरी दूर होती है।

 किसी भी प्रकार की गांठ :-

सुबह शाम दो समय अलसी का काढ़ा बनाकर पीने से शरीर में होने वाली किसी भी प्रकार की गांठ ठीक हो जाती है।

 श्वास-दमा कफ, ऐलर्जीँ :-

अलसी का काढ़ा रोज सुबह शाम २ बार लेने से श्वास, दमा, कफ, ऐलर्जीँ के रोग ठीक हो जाते हैं।

 ह्दय की कमजोरी :-

ह्दय से जुड़ी किसी भी समस़्या में अलसी का काढ़ा रामबाण ईलाज है।

जिन लोगों को ऊपर बताई गई समस़्या में से १ भी तकलीफ है तो आपके पास ईसका रामबाण ईलाज के रुप में अलसी का काढा है। कृप्या आप इसका सेवन करें आैर स्वस्थ रहें।

 कैसे बनायें काढा :-

2 चमच अलसी + 3 ग्लास पानी मिक्स करके उबालें। जब अाधा पानी बचे तब छानकर पियें।

इस प्रयोग से असंख्य लोगों को बहुत ही लाभ मिला है।आप भी लाभ लें।

Source: WhatsApp

Disclaimer: All information, data and material has been sourced from multiple authors and is for general information and educational purposes only and are not intended to replace the advice of your treating doctor.

The views and nutritional advice expressed are not intended to be a substitute for conventional medical service. If you have a severe medical condition or health concern, see your physician.

Related posts